How to Become a Car Designer With Full Information?

अगर आपको भी कार बहुत पसंद है और आप कार के नए – नए डिजाइन बनाने के बारे में ना केवल सोचा करते हैं बल्कि बहुत से स्कैचेस बनाया भी करते हैं तो ये तय है कि आपको कार में इंटरेस्ट है और शायद आप कार डिजाइनिंग के फील्ड में जाना चाहते हैं लेकिन शायद आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। ऐसे में आज क्विक सपोर्ट आपके लिए लेकर आया है कार डिजाइनर बनने से जुड़ी पूरी जानकारी,इस पोस्ट में.. में आप जान जाएंगे कि कार डिजाइनर कैसे बना जाये यानी कार डिजाइनर बनने के लिए आपको कैसी एजुकेशन और स्किल्स हासिल करनी होगी।

तो चलिए, शुरू करते हैं और सबसे पहले ये जानते हैं कि कार किस तरह डिजाइन की जाती है ?

भले ही आपको लगता हो कि कार डिजाइन करना बहुत ही आसान काम है और सिर्फ कुछ स्कैचेस बनाकर ही ये काम पूरा हो जाता है लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है। कार डिजाइन करना एक टीम वर्क होता है जिसमें सबसे पहले ये decide किया जाता है कि किस तरह की कार डिजाइन की जानी है? एक स्पोर्ट्स कार या एक फॅमिली सलून या फिर एक suv ?

कार का पैटर्न decide होने के बाद आगे का काम engineers और designers को सौंप दिया जाता है और डिज़ाइनर तीन कोर एरियाज पर काम करते हैं – कार के एक्सटीरियर लुक्स, इंटीरियर्स और कलर एंड ट्रिम सलेक्शन. और जब कार डिजाइनर CAD  (computer-aided design) की मदद से बेसिक स्कैचेस और डिटेल्ड 3D इमेजेज बनाकर एक परफेक्ट डिजाइन तैयार कर देते हैं तब engineers के लिए उस डिजाइन पर काम करना आसान हो जाता है और एक प्रोसेस के बाद ब्रांड न्यू कार मार्केट में आ जाती है। तो देखा आपने,कार डिजाइनर बनने का मतलब सिर्फ स्कैचेस बनाना नहीं होता है बल्कि ये डीप रिसर्च, हार्ड वर्क और क्रिएटिविटी का काम होता है इसलिए सबसे पहले आप अपने टैलेंट को समझिये। अगर वाकई आपमें वो क्रिएटिविटी है जो एक कार डिजाइनर में होनी चाहिए तो आप as a प्रोफेशन, इस फील्ड को चुनने के बारे में सोच सकते हैं।

चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि कार डिजाइनर बनने के लिए क्वॉलिफिकेशन्स क्या होनी चाहिए यानी कार डिजाइनर बनने के लिए आपको कौनसा प्रोसेस फॉलो करने की जरुरत है –

10+2 क्लियर करना होगा –

सबसे पहले आपको 10+2 क्लियर करना होगा और अगर स्कूल से ही आप मैथ्स में अच्छा स्कोर करेंगे तो आपके लिए बहुत आसान हो जाएगा क्योंकि कार डिजाइनिंग में एक्यूरेसी होना बहुत जरुरी है और इसके लिए मैथ्स पर कमांड होना जरुरी है।

बैचलर्स डिग्री जरुरी है –

कार डिजाइनर बनने के लिए आपके पास ऑटोमोबाइल डिजाइनिंग में बैचलर्स डिग्री होनी जरुरी है इसलिए 10+2 के बाद ऑटोमोबाइल डिजाइनिंग में बैचलर्स डिग्री लीजिये। ऐसा करने से आपको ऑटोमोबाइल्स मैकेनिक्स और व्हीकल डायनामिक्स के बारे में सीखने को मिलेगा। इस दौरान आपको CAD सॉफ्टवेयर जैसे टूल्स पर काम करना भी सिखाया जाएगा। ये कोर्स करने के बाद कार डिजाइनर के रूप में जॉब ऑप्शंस मिलना काफी आसान हो जाएगा। अगर किसी रीज़न से आप ऑटोमोबाइल डिजाइनिंग कोर्स में एडमिशन लेने से चूक जाए तो आपको इंडस्ट्रियल डिजाइन या इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग प्रोग्राम में एडमिशन लेने से नहीं चूकना चाहिए।

ऑटोमोटिव डिजाइन कोर्स के बैचलर प्रोग्राम के लिए आप The Design Village,Noida, Karnavati University,Gandhinagar, Tata Institute Of Social Sciences, Mumbai , Uniteworld Institute of Design, Ahmedabad  और MIT Institute Of Design, Pune जैसे कई इंस्टीट्यूट्स में एडमिशन ले सकते हैं।

कार डिजाइनिंग में मास्टर्स डिग्री लें –

कार डिजाइनिंग एक स्पेशलाइज्ड जॉब है जिसमें परफेक्शन कम्पलसरी है इसलिए इस फील्ड की बारीकियों को अच्छे से समझने के लिए आप इसमें मास्टर्स डिग्री लें। ऐसा करने से आपको अपनी जॉब में हायर पोजीशन जल्दी मिलने के चान्सेस भी बढ़ जायेंगे लेकिन अगर आपने इंडस्ट्रियल डिजाइन, एयरोडायनामिक्स या इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग में मास्टर्स डिग्री ली है तो इस डिग्री से भी आपकी प्रोग्रेस के चान्सेस बढ़ सकते हैं।

ऑटोमोटिव डिज़ाइन में मास्टर्स डिग्री के लिए भी इंडिया में बहुत से अच्छे ऑप्शंस हैं जैसे National Institute Of Design,Gandhinagar, MIT Institute Of Design,Pune, Kings Cornerstone International College, Chennai, School Of Design Studies -University Of Petroleum And Energy Studies, Dehradun, Industrial Design Centre – IIT Bombay, Mumbai.

इंटर्नशिप करें –

बैचलर और मास्टर्स डिग्री लेते समय आपका मेन फोकस होना चाहिए अपना पोर्टफोलियो बनाना और एक परफेक्ट और इम्प्रेसिव पोर्टफोलियो के लिए आपको इंटर्नशिप करनी चाहिए ताकि आपको कार डिजाइनिंग के Experienced प्रोफेशनल्स से स्किल्स सीखने का मौका मिल सके, आप कार इंडस्ट्री को अच्छे तरीके से समझ सके और एक परफेक्ट पोर्टफोलियो भी तैयार कर सकें।

टेक्नोलॉजी फ्रेंडली बनिए –

आज अगर कार डिजाइन करने के लिए सिर्फ पेपर पेन का ही यूज किया जाए तो आपकी स्पीड बहुत स्लो रह जाएगी जबकि लेटेस्ट सॉफ्टवेयर्स का इस्तेमाल करने से आप अपना काम नए तरीके से और बहुत तेजी से पूरा कर पाएंगे इसलिए आपको कार डिजाइनिंग से रिलेटेड टूल्स जैसे CAD यानी कंप्यूटर एडेड डिजाइन सॉफ्टवेयर्स पर काम करना सीखना चाहिए। अगर आप  Aesthetics Designing सीखना चाहते हैं तो कुछ पॉपुलर सॉफ्टवेयर्स ये हैं – Alias, 3Ds Max और blender ….और टेक्निकल डिजाइनिंग के लिए आप इन सॉफ्टवेयर्स पर काम करना सीख सकते हैं -Solidworks, Creo Parametric, Inventor, AutoCad और Catia.

अपडेट रहना जरुरी है –

अभी तक कार डिजाइनिंग जॉब में बहुत ज्यादा जॉब ऑप्शंस नहीं निकलते हैं इसलिए अपनी पसंदीदा जॉब ग्रैब करने के लिए आपका एडवांस और अपडेट होना बहुत जरुरी है। इसके लिए आप ऑनलाइन डिजाइन कोर्स भी कर सकते हैं और सोशल मीडिया की हेल्प लेकर अपने कार डिजाइन को बहुत सारे लोगों तक पंहुचा भी सकते हैं। ऐसा करने से आपको ना केवल फीडबैक मिलेगा बल्कि सोशल मीडिया पर मिला हुआ अच्छा रिस्पांस, आपका पोर्टफोलियो बेटर बनाने में हेल्पफुल भी रहेगा।

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री से जुड़ने का तरीका –

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री से जुड़ने के लिए आपको Automotive Publications की वेबसाइट और मैगजीन्स में अपने डिजाइन पब्लिश करवाने के लिए सबमिट करने चाहिए और अपनी designs का क्रेडिट भी अपने नाम ही करवाना चाहिए। इसके अलावा आपको ज्यादा से ज्यादा कार शोज में शामिल होना चाहिए जहाँ आपको अपना नेटवर्क बनाने में मदद मिलेगी जिससे आपके पास अच्छे जॉब ऑप्शंस आने लगेंगे।

कार डिजाइनिंग के फील्ड में जितना एक्साइटमेंट है उतना ही रिस्क भी है क्योंकि इस फील्ड में अच्छी जॉब मिलना इतना आसान नहीं है। हाँ अगर आप पैशनेट हैं और एक अच्छा पोर्टफोलियो मेंटेन करते हैं.. तो आप जरूर टाइम रहते अपने लिए एक परफेक्ट जॉब ले सकते हैं लेकिन अगर आप अपडेट ना रहें और परफेक्ट जॉब opportunity के इंतजार में बाकी ऑफर्स ठुकराते रहें तो ये रिस्की हो सकता है इसलिए आपको एक बार इस इंडस्ट्री में कदम रख देना चाहिए और उसके बाद अपनी स्किल्स और क्रिएटिव आइडियास से अपने आगे के रास्ते खोल लेने चाहिए।

जहाँ तक कार डिजाइनर की सैलरी की बात है तो ये आपकी कंपनी और आपके एक्सपीरियंस पर डिपेंड करता है। फिर भी अंदाज़े के तौर पर एक कार डिजाइनर की एनुअल इनकम लगभग 7-8 लाख रुपये होती है।

अगर आप कार डिजाइनर बनने के अपने सपने को लेकर sure हों और हमारे बताये इस प्रोसेस को अच्छे से फॉलो कर लें तो आप कार डिजाइनर बन सकते हैं और क्या पता! अपने इस मनपसंद फील्ड में आप इतने फेमस हो जाये कि Filippo Perini,  Marcello Gandini और Shiro Nakamura जैसे फेमस कार डिजाइनर की तरह आप भी कार डिजाइनिंग इंडस्ट्री में अपना नाम बनाने में कामयाब हो जाएँ।

दोस्तों, अब कार डिजाइनर बनने से जुड़ी सारी जानकारी आपके पास है और क्विक सपोर्ट को उम्मीद है कि हमारी ये कोशिश आपको पसंद आयी होगी और कार डिजाइनर बनने से जुड़ी इस जानकारी को समझना भी आपके लिए आसान साबित होगा। आगे भी ऐसी ही इनोवेटिव और इंटरेस्टिंग जानकारियां लेने के लिए हमारे वेबसाइट को search करे ताकि हर नयी और इनोवेटिव जानकारी सबसे पहले आप तक पहुचें। धन्यवाद

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here